1. भारत के स्वाधिनता आंदोलन का आयोजन महात्मा गांधी ने किया था परन्तु जब 15 अगस्त 1997 में आजादी मिली तो वह सामिल नही हो सके।

2. महात्मा गांधी उस दिन दिल्ली से दूर बंगाल के नोआखली में थे जो हिन्दू मुस्लिम के बीच हो रहे संपरदायिक हिंसा को रोकने के लिए अनसन पर बैठे थे।

3. जब पता हो गया कि 15 अगस्त को देश आजाद हो जाएगा तो सरदार वल्लभ भाई पटेल और नेहरू जी ने महात्मा जी को एक पत्र भेजा, इसमे लिखा था कि 15 अगस्त हमारा पहला स्वाधीनता दिवस है आप राष्ट्र पिता है इसमें शामिल हो और अपना आशिर्वाद प्रदान करे।

4. गांधी जी ने जवाब लिखा कि कलकत्ता में हिन्दू मुस्लिम एक दुसरे की जान ले रहे इसको छोड़कर में जश्न मनाने नही आ सकता, उन्हों ने कहा कि इसको रोकने के लिए मैं अपने जान की बाजी लगा दूंगा।

5. नेहरू जी परधानमंत्री नही बने थे इनके स्पीच को सभी लोगो ने सुना परन्तु गांधी जी प्रातः 9 बजे सोने के लिए चले गए।

6.15 अगस्त 1997 को लार्ड मोउंटवेटन ने कार्यालय में काम किया नेहरू जी ने दोपहर को उन्हें
मंत्री मंडल की सूची सौप दिया और बाद में इंडिया गेट के प्रिंसेज गार्डन में सभा को संबोधित किया।

7. स्वतंत्रता दिवस पर प्रधानमंत्री लाल किले पर तिरंगा फहराते है लेकिन 15 अगस्त को ऐसा नही हूआ था लोकसभा के सचिवालय के पत्र के अनुसार नेहरू जी ने 16 अगस्त 1997 को लाल किला पर तिरंगा फहराया था।

8. भारत के वायसराय लार्ड माउन्टबेटन के प्रेस सचिव कैम्पवेल जॉनसन के मुताबिक मित्र देश की सेना के सामने जापान आत्म समर्पड की दूसरी गाँठ
15 अगस्त को पड़ रहा था इसी लिए भारत को 15 अगस्त को आजाद करना पड़ा।

9. 15 आगत तक भारत और पाकिस्तान के सीमा का निर्धारण नही हूआ था इसका फैसला 17 अगस्त को रेडक्लिफ की घोषणा से हूआ जो भारत और पाकिस्तान के सीमा का निर्धारण करता था।

10. भारत 15 अगस्त को आजाद तो हो गया परन्तु भारत के पास अपना कोई राष्ट्र गान नही था रविंदर नाथ टैगोर जान गण मन 1911 में लिख दिया था लेकिन उसको तैयार होने में वक्त लगा(1950)।

11. क्या आप को पता है कि 15 अगस्त भारत के अलावा और तीन देश की स्वतंत्रता दिवस है।

12.पनामा सहर को 15 अगस्त 1519 को बनाया गया था।

13. 15 अगस्त 1772 को ईस्ट इंडिया कंपनी ने अनेक जिलो में अलग सिविल और अदालतों के गढ़न किया था।

14. भारत को आजादी दिलाने वाले महान महर्षि अरविंदो का जन्म 1872 में हूआ था।

15. 15 अगस्त 1950 को असम में एक भूकम्प आया था जिससे 1500-3000 लोगो की मौत हो गयी थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *