1. गौ माता में तैतीस देवीयों का वास होता है।

2. गौ माता जिस जगह पर खुशी से रंभाने लगे वहाँ पर देवी देवता फूलों की वर्षा करते है।

3. गौ माता के गले मे बंधी घंटी के बजने से गौ आरती होती है।

4. जो व्यक्ति गौ माता की सेवा करता है, गो माता उस पर आने वाले सभी प्रकार की विपदाओं को हर लेती है।

5. गौ माता के पैर में नागदेव का वास होता है, गौ जिस जगह रहती है वहाँ साँप विछु नही आते है।

6. गौ गोबर से लक्ष्मी की पूजा होता है।

7. गौ मूत्र पवित्र होता है।

8. गौ माता के आँखों मे सूर्य चन्द्रमा का वास होता है।

9. गौ माता धरती की देवी है।

10. गौ माता अन्नपूर्णा है, जो मनोकामनाओ को पूर्ण करती हैं।

11. गौ माता के दूध से सक्ति मिलती हैं।

12. गाय के पूछ में बजरंबली का वास होता है, अगर किसी व्यक्ति को बुरी नजर हो जाये तो गौ माता के पूछ से झाड़ने पर ठीक हो जाता है।

13. गौ माता के पीठ पर एक कूबड़ होता है, जिसमें सुर्य केतु की नाड़ी होती है, जिसे सुबह आधा घंटा रोज छूने से रोगों का नाश होता है।

14. गाय का दूध अमूल है।

15. गौ माता धर्मनिऐ है, जिनके बिना धर्म की कल्पना नही हो सकती।

16. गाय से बने पंचकाव्य हजारों रोगों की दवा है।

17. जो व्यक्ति अपने हात में गुड़ रखकर गौ माता को जीभ से चटाते है, उनके सोयें हुये भाग्य खुल जाते है।

18. बांझ स्त्रियों को गाय का पहला दूध पिलाने से उनका बांझपन मिट जाता है।

19. गौ माता के गौ मूत्र को सात पत्र कपड़े से छान कर रोज सेवन करने से सभी कष्ट नष्ट होते हैं।

20. जो व्यक्ति ध्यानपूर्वक गौ पूजा करता है, उसको सत्रु दोसो से छुटकारा मिलता है।

21. मनुष्य को काली गाय की पूजा करनी चाहिए क्यूंकि इनकी पूजा करने से नो ग्रह खुश रहते है।

22. गाय जहाँ पर आनन्द पूर्वक रहकर रहती है वहाँ वास्तु दोष नही रहता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *