दोस्तों आज हम आपलोगों को भगवान श्री कृष्ण के बारे में बताने जा रहे है , ऊनि लीला हर कोई जनता है उनको लोग माखन चोर कहते थे कोई उनको चोर कहता था कोई उनसे बहुत प्यार करता था और दुस्तो का संघर भी किया भगवान् ने तो दोस्तों आइये हम आपलोगों को भगवान् कृष्णा के बारे मे कुछ रोचक तथ्य बताते है जो सायद आपलोगों ने कभी नहीं सुना होगा…………

भगवान श्री कृष्णा के बारे में रोचक तथ्य-Lord Shri Krishna Facts In Hindi

1. भगवान श्री कृष्णा के शंख का नाम पांचजन्य और गदा का नाम कौमौद्की था |

2. भगवान कभी भी द्वारिका में 6 महीने से ज्यादा नहीं रहे सिर्फ अंतिम बर्षो को छोड़ के |

3. कृष्णा की सौतेली माँ रोहणी और उनकी पर दादी मारिषा नाग जनजाति की थी |

4. जब भगवान कृष्ण परम धाम जा रहे थे तब न ही उनका बाल स्वेत था न ही उनके सरीर पर एक भी झुर्रियां थी |

5. जो आज के टाइम पर विंध्यवासिनी नाम से पूजा जाता है वो ही भगवान से जेल में बदली गई थी |

6. भगवान कृष्णा के द्वारा दो नगरो की अस्थापना की गई थी जिसका नाम इन्द्रप्रस्त और द्वारिका था |

7. सायद आपलोगों को पता नहीं होगा की भाग्ग्वान ने नेमिनाथ के यहाँ रहकर भी साधना की थी |

8. भगवान ने अपनी औपचारिक शिक्षा उज्जैन के सम्पदिनी आश्रम में कुछ ही दिनों में सिख ली थी |

9. भगवान कृष्णा की मसपेशियाँ युद्ध के समय अलग अलग हो जाती थी |

10. भगवान के सरीर से एक मादक गंध निकलती थी और उनके त्वचा का रंग मेघश्यामल था |

11. भगवान श्री कृष्णा ने अपने 16 वर्ष के आयु में ही मथुरा के दुष्ट रजक के सर को हथेली के प्रहार से ही काट दिया था |

12. भगवान श्री कृष्णा ने श्री मदभागवत गीता के रूप में आध्यात्मिकता की वैज्ञानिक व्याख्या दी है |

13. भगवान् के मुख्य आयुध चक्र का नाम सुदर्शन और धनुष का नाम शारंग था |

14. कृष्णा के चचेरे भाई तीर्थंकर नेमिनाथ थे ऐसा जैन परम्परा के मुताबिक मन जाता है वही हिन्दू परंपरा में घोर अंगिरस के नाम से जाना जाता है |

15. ऐसा मन जाता है की भगवान श्री कृष्णा ने मार्शल आर्ट की सुरुआत ब्रज के बनो में किया था |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *